1 Ladke Ko Ladki Se Pyar Ho Gya Lekin
Ladki Ne Use Thukra Dia
.
Ladke Ne Kaha Tum 10 Din K Andar
Mujhse Mohbbat Ka Iqrar Karo Gi
.
.
Or Ladka Din Rat Barish Me Dhoop Me
Us K Ghar K Samne Khada Raha
.
9 Din K Bad Ladki Ko Sach Me Ladke Ki
Mohbbat Ka Ahsas Ho Gya Us Ne Socha
Subah Pyar Ka Iqrar Krungi Lekin Jab
Wo Ladke Ko Milne Gayi To Ladka Use
Wahan Na Mila Aur 1 Kagaz Mila Jis Par
Likha Tha
*
*
Tere Chakkr Main Teri Bahen Set Ho
Gayi Hai
.
.
Sorry Saali Sahiba
Ha ha ha...Thoko taali
                                                                See More:Jokes in Hindi Font
लाइन मारने के बहुत से तरीके होते हैं।
इनमें से 3 बेस्ट तरीके हैं...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
1. पेंसिल से लाइन मारना
2. पेन से लाइन मारना
3. मार्कर से लाइन मारना
अच्छा सोचो! कुछ लोग शरीफ भी होते हैं...
मेरी तरह।
                                                         See More: Mast Funny Chutkule in HIndi Font

तीन आदमी एक देहाती सड़क के किनारे पर काम कर
रहे थे। एक आदमी 2-3 फीट
गहरा गङ्ढा खोदता था और दूसरा उसे फिर
मिट्टी से भर देता था। तब तक
पहला आदमी नया गङ्ढा खोद लेता था और
दूसरा आदमी उसे भी मिट्टी से भर देता था। काफी देर से यही क्रम चल रहा था।
तीसरा आदमी सड़क किनारे ही एक पेड़
की छाया में लेटा हुआ था.
एक राहगीर काफी देर से इस कार्यक्रम को देख
रहा था। आखिरकार उससे रहा नहीं गया और उसने
पूछ ही लिया – यहां क्या काम हो रहा है ? “हम सरकारी काम कर रहे हैं ” – उनमें से एक आदमी ने
बताया।
“वो तो मैं देख ही रहा हूं। लेकिन तुम लोग
गङ्ढा खोदते हो फिर उसे भर देते हो फिर खोदते
हो फिर भर देते हो। आखिर इस काम से हासिल
क्या हो रहा है। क्या यह देश के धन की बर्बादी नहीं है ? ” राहगीर ने थोड़ा गुस्से से
कहा।
“जी नहीं श्रीमान । हम तो अपना काम
पूरी ईमानदारी से कर रहे हैं। मैं आपको समझाता हूं।”
पहले आदमी ने अपना पसीना पोंछते हुये कहा ।
“यहां हम कुल तीन आदमियों की डयूटी है। मैं, मोहन और वह जो पेड़ की छाया में लेटा है श्याम। हम लोग
यहां पौधारोपण कार्य के लिये लगाये गये हैं।
मेरा काम है गङ्ढा खोदना, श्याम का काम है उसमें
पौधा लगाना और मोहन का काम है उस गङ्ढे में
मिट्टी डालना ।”
“अब चूंकि श्याम की तबीयत आज खराब है तो इसका मतलब यह तो नहीं कि हम
दोनों भी अपना काम न करें।
                                                          See More: Professor v/s Boy Jokes in Hindi

तीन आदमी एक देहाती सड़क के किनारे पर काम कर
रहे थे। एक आदमी 2-3 फीट
गहरा गङ्ढा खोदता था और दूसरा उसे फिर
मिट्टी से भर देता था। तब तक
पहला आदमी नया गङ्ढा खोद लेता था और
दूसरा आदमी उसे भी मिट्टी से भर देता था। काफी देर से यही क्रम चल रहा था।
तीसरा आदमी सड़क किनारे ही एक पेड़
की छाया में लेटा हुआ था.
एक राहगीर काफी देर से इस कार्यक्रम को देख
रहा था। आखिरकार उससे रहा नहीं गया और उसने
पूछ ही लिया – यहां क्या काम हो रहा है ? “हम सरकारी काम कर रहे हैं ” – उनमें से एक आदमी ने
बताया।
“वो तो मैं देख ही रहा हूं। लेकिन तुम लोग
गङ्ढा खोदते हो फिर उसे भर देते हो फिर खोदते
हो फिर भर देते हो। आखिर इस काम से हासिल
क्या हो रहा है। क्या यह देश के धन की बर्बादी नहीं है ? ” राहगीर ने थोड़ा गुस्से से
कहा।
“जी नहीं श्रीमान । हम तो अपना काम
पूरी ईमानदारी से कर रहे हैं। मैं आपको समझाता हूं।”
पहले आदमी ने अपना पसीना पोंछते हुये कहा ।
“यहां हम कुल तीन आदमियों की डयूटी है। मैं, मोहन और वह जो पेड़ की छाया में लेटा है श्याम। हम लोग
यहां पौधारोपण कार्य के लिये लगाये गये हैं।
मेरा काम है गङ्ढा खोदना, श्याम का काम है उसमें
पौधा लगाना और मोहन का काम है उस गङ्ढे में
मिट्टी डालना ।”
“अब चूंकि श्याम की तबीयत आज खराब है तो इसका मतलब यह तो नहीं कि हम
दोनों भी अपना काम न करें।
                                                         See More: Santa Banta Chutkule



Categories:
Share
Blog Widget by LinkWithin