संता: जब मेरी नई-नई शादी हुई थी, तो मुझे अपनी बीवी इतनी प्यारी लगती थी ,,,,,,,,,,,,,,, ,,,,,,,,,,,,,,, बिलकुल गुलाब जामुन की तरह , मन करता था, कि खा जाऊं बस ! बंता: और अब ? . . . . संता: तब खा ही जाता तो अच्छा था ! . बंता :- क्यों ?? क्या अब डायबिटीज़ हो गई है ? . . संता :- पागल तुझे , गुलाब जामुन और बेसन के पकौड़े में कोई फर्क नज़र नहीं आता ???
Categories:
Share
Blog Widget by LinkWithin