संता और बंता काफी सालो से अच्छे दोस्त थे, और अब दोनों की उम्र अब लगभग 90 के आसपास हो चुकी थी।

एक बार संता बहुत बीमार पड़ गया तो बंता उससे रोज मिलने के लिए आता और रोज वे अपने दोस्ती के किस्से दोहराते।

गुज़रते वक़्त के साथ संता और बंता दोनों को ही अब लगभग यकीन हो चला था कि संता अब बस चंद दिनो का ही मेहमान है, तो एक दिन बंता ने संता से कहा, ''देखो जब तुम मर जाओगे, तो क्या मेरे लिए एक काम करोगे?''

संता: कौन सा काम?

क्योंकि संता और बंता दोनों ही क्रिकेट के बहुत दीवाने थे इसीलिए बंता ने संता से कहा, "तुम मरने के बाद क्या मुझे यह बताओगे कि स्वर्ग में क्रिकेट है या नहीं?"

संता: क्यों नहीं जरुर।

और कुछ दिनों के बाद संता भगवान को प्यारा हो गया।

कुछ दिन बाद बंता जब सो रहा होता है तो संता उसके सपने में आता है और कहता है, ''तुम्हारे लिए मेरे पास दो खबरें है. . .एक बुरी और एक अच्छी।

बंता: तो पहले अच्छी खबर सुनाओ।

संता: अच्छी खबर यह है कि स्वर्ग में क्रिकेट है।

बंता:और बुरी खबर?

संता: बुरी खबर यह है कि तुम्हें आनेवाले रविवार को होने वाले मैच में बॉलिंग करनी है।
Categories:
Share
Blog Widget by LinkWithin